किसान और सरकारसमाचार

20 नये कृषि विज्ञान केन्द्र खोलेगी उत्तर प्रदेश सरकार : सूर्य प्रताप शाही

उत्तर प्रदेश सरकार के कृषि , कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में 20 नया कृषि विज्ञान केन्द्र खोला जायेगा। इससे किसानों को वैज्ञानिक और आधुनिक खेती करने की योजनाओं का लाभ खेत से खलिहान तक मिलेगा।
आज उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के कृषि विज्ञान केन्द्र बंजरिया में आयोजित संकल्प से सिद्धि न्यू इण्डिया मंथन कार्यक्रम का शुभारम्भ करने के बाद आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में 69 कृषि विज्ञान केन्द्र कार्यरत है। 20 नया कृषि विज्ञान केन्द्र खुलने से किसानों को वैज्ञानिक और आधुनिक खेती की जानकारी होगी और किसानों की आमदनी में वृद्धि होगी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी दुगुना करना चाहते है। इसके लिए किसानों को नयी तकनीकीविधि उपकरण और संतुलित खाद का उपयोग करना होगा। इस दिशा में कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में सक्रिय भागीदारी निभावें, किसानों की आमदनी बढ़ने से देश आत्म निर्भर होगा। प्रदेश के कृषि विश्व विद्यालय कृषि उत्पादन बढ़ाने के लिए लगातार शोध कार्य करके अनुभवों को आपस मंे आदान-प्रदान कर रहे है।
इस मौके पर कृषि मंत्री द्वारा संकल्प पत्र पढ़ा गया जिसे किसानों ने दोहराया इसके पूर्व कृषि मंत्री द्वारा मृदा परीक्षण कार्यालय का शुभारम्भ किया गया और किसानों द्वारा लगाये गये स्टालों को घूम-घूम कर देखा गया। इस मौके पर कृषि मंत्री द्वारा जिले के जागरूक किसान अज्ञाराम वर्मा, कर्नल के0सी0मिश्र, अरबिन्द ंिसंह, परमानन्द सिंह, को सम्मानित किया गया।
समारोह को सम्बोधित करते हुए संसद सदस्य हरीश द्विवेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री की सोच ‘संकल्प से सिद्धि‘ को साकार करने एवं 2022 तक एक खुशहाल और सम्पन्न भारत निर्माण करने के लिए यह आवश्यक है कि जनपद के किसानों की उन्नति के लिए कृषि विभाग के अधिकारी एवं क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि सभी एक-दुसरे से समन्वय स्थापित कर केन्द्र एंव प्रदेश सरकार द्वारा किसानहित की सभी योजनाओ को पारदर्शी एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से क्रियान्वित करावे। उन्होंने जनपद के किसानों को और अधिक जागरूक एवं उन्नत कृषि तकनीकि की जानकारी दिलाने हेतु स्थानीय कृषि विज्ञान केन्द्रो को और अधिक मजबूत करने की दिशा में मंत्री से आर्थिक सहयोग की अपील किया।

कप्तानगंज के विधायक सी0ए0 चन्द्र प्रकाश शुक्ला ने कहा कि 2022 तक नये भारत के निर्माण के लिए पं0 दीनदयाल उपाध्याय के अन्त्योदय की परिकल्पना को विभिन्न सरकारी योजनाओं के माध्यम से लागू किया जा रहा है, जिससे समाज का सबसे पिछड़ा व्यक्ति विकास की मुख्य धारा से जुड़ सके। विधायक सदर दयाराम चैधरी ने गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए कहा कि हम सभी को नये भारत के निर्माण के लिए ठीक उसी तरह से विकास की दिशा में ईमानदारीपूर्वक जुझारू मेहनत करने की जरूरत है जैसा हमारे क्रान्तिकारियों ने देश को आजाद कराने के लिए किया था, प्रधानमंत्री के नये भारत का निर्माण भी हम सभी के लिए एक दूसरी आजादी होगी।

इस अवसर पर आचार्य नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रोद्योगिकी विश्व विद्यालय कुमारगंज, फैजाबाद के कुलपति प्रो0 अख्तर हबीब ने अपने सम्बोधन में कृषि विज्ञान केन्द्रो को और अधिक विकसित बनाने के लिए सभी से सहयोग की अपील करते हुए उच्च गुणवत्तायुक्त तकनीको को विकसित करने और उन्हें किसानों तक पहुचाने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर विभिन्न कृषि वैज्ञानिको ने उपस्थित किसानों को उन्नत कृषि तकनीक को विभिन्न फसलों में इस्तेमाल किए जाने संबंधी गुर बताये तथा जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित किया। आयोजन को यू0एस0गौतम निदेशक कृषि विज्ञान केन्द्र उत्तर प्रदेश ने भी सम्बोधित किया।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष भाजपा पवन कसौधन, जनप्रतिनिधि के0के0 सिंह, राणा दिनेश प्रताप सिंह, संयुक्त कृषि निदेशक डाॅ0 ओ0पी0 सिंह, संयुक्त निदेशक औद्यानिक प्रयोग एंव प्रशिक्षण केन्द्र डाॅ0 आर0के0 तोमर, जिला कृषि अधिकारी सतीश चन्द्र पाठक, कृषि वैज्ञानिक डाॅ0 एस0एन0 सिंह, डाॅ0 राधवेन्द्र सिंह सहित अन्य कृषि वैज्ञानिक, कृषि विभाग के अधिकारीगण के अलावा समाज सेवक वृहस्पति पाण्डेय सहित बड़ी संख्या में क्षेत्रीय नागरिक और किसान मौजूद रहे।

Show More

Leave a Reply

Related Articles

Close
Close